Saturday, 23 December 2017

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2017 में मुकेश छाबड़ा ने विशेष मास्टर-क्लास की मेज़बानी की

सुप्रसिद्ध भूमिका-निर्देशक मुकेश छाबड़ा ने देश की कुछ असाधारण प्रतिभाओं को दुनिया के सामने लाकर भारतीय सिनेमा में एक अभूतपूर्व योगदान दिया है । युगांतरकारी फिल्मों के लिये पुरस्कार-प्राप्त फिल्म निर्माताओं के साथ निकटता से कार्य करने के बाद सिनेमा के इस दीवाने ने प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव, 2017 में एक मास्टर-क्लास का संचालन किया । 
वाणिज्यिक रूप से सफल एवं वाहवाही बटोरने वाली फिल्मों जैसे गैंग्स ऑफ वासेपुर, शाहिद, काई पो चे, हाइवे, हैदर एवं दंगल से जुड़ा रहने के कारण भूमिका-निर्देशक मुकेश छाबड़ा ने 25 नवम्बर 2017 को अपने मास्टर-क्लास सत्र में ‘सिनेमा में कलाकारों का चुनाव एवं चरित्र-चित्रण’ विषय पर व्याख्यान दिया । वर्षों के सिनेमा अनुभव के बाद अब मुकेश सफलतापूर्वक अपनी कास्टिंग कम्पनी के प्रमुख हैं एवं इस विषय पर वार्तालाप प्रारंभ करने के लिये एक विश्वसनीय विशेषज्ञ हैं । उपरोक्त मास्टर-क्लास एक संवादात्मक सत्र था जो आज के मनोरंजन उद्योग की सही ज़रूरतों पर प्रकाश डालता था ।  
अपनी मास्टर-क्लास के दौरान उन्होंने कहा, “चरित्र चयन फिल्म निर्माण के मूलभूत आयामों में से एक है । मुझे प्रसन्नता है कि फिल्म महोत्सवों में इस पर भी चर्चा हो रही है । मैं प्रतिभाशाली लोगों की सही निर्देशकों से मुलाकात करने में सहायता करना चाहता हूं । मैं चरित्र-चुनाव से प्रेम करता हूं क्योंकि यह मुझे खुशी देता है । किसी परियोजना पर कार्य करते समय मैं चरित्र चयन हेतु केवल अपनी पटकथा का पालन करता हूं । जहां तक बॉलीवुड का प्रश्न है, केवल आपकी प्रतिभा आपको आगे ले जाती है, न कि सम्पर्क । यदि आप प्रतिभाशाली हैं को भाई-भतीजावाद से कोई फर्क नहीं पड़ता ।”
अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का अड़तालीसवां संस्करण 20 से 28 नवम्बर तक तटीय राज्य गोवा में आयोजित होगा । अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव भारत का सबसे बड़ा एवं एशिया का सबसे पुराना फिल्म महोत्सव है, जो इसको विश्व का सबसे प्रतिष्ठित महोत्सव बनाता है ।
                               *****
वीके/एमपी/एसके-5631

No comments:

Post a Comment